Tuesday, November 24, 2009

Bilaspur property market

मैं यहाँ पर आज सिर्फ प्लाट या जमीन की चर्चा कर रह हू .हम होउसिंग सेक्टर पर चर्चा बाद में करेगे !
 बिलासपुर के प्रोपर्टी मार्केट पर कहा करे निवेश ? कोई मुझ से पूछता है की प्रोपर्टी कहा लेनी चाहिए और मेरा जवाब रहता है की आप का प्रोपर्टी लेने का मकसद क्या है! ज्यादातर लोग यह निर्णय नहीं कर पाते की उन्हों ने जो प्रोपर्टी खरीदी है उस का भविष्य में क्या उपयोग होगा ! प्रोपर्टी पर जो भी निवेश करता है उस के पीछे उस का मकसद यही होता है की भविष्य में वो तीन या चार गुना ज्यादा कीमत पर बिक जाये !या उन की प्रोपर्टी की कीमत  चार गुना हो जाये ! १०० में से 80 प्रतिशत लोग यही सोच कर प्रोपर्टी पर निवेश कर रहे है जिसमे ज्यादा तर लोगो ने छत्तीसगढ़ बनने के बाद यही किया जो बिलासपुर में आप सब के सामने है (मैं सिर्फ बिलासपुर के प्रोपर्टी मार्केट पर चर्चा कर रहा हु ) !
अब बात मुद्दे की कहा और क्यों प्रोपर्टी निवेश करे ? बहुत से लोगो ने आज से १० से १५ सालो पहले राजकिशोर नगर, मोपका, देवरीखुर्द,तारबाहर फाटक के उस पर चुचुहियापरा,सिरगिट्टी  के पास किया था आज क्या है वह पर? आज उन की प्रोपर्टी की की कीमत तीन या चार गुना ज्यादा है पर क्या जो बिलासपुर के प्रोपर्टी मार्केट में जो बूम चल रहा है उस का फायदा उन लोगो को मिला जिन्हों ने इन जगहों पर १० से १५ सालो पहले प्रोपर्टी पर निवेश किया था !ज्यादा तर लोगो का जवाब होगा हां .... पर ऐसा नहीं है बिलासपुर के प्रोपर्टी मार्केट में जो बूम है उस का पूरा फायदा इस एरिया को नहीं मिल पाया राज किशोरनगर के BDA वाले एरिया को छोड़ कर आज भी चुचुहियापरा, सिरगिट्टी ,मोपका, देवरीखुर्द में कुछ खास डेवलपमेंट नहीं हो पाया है बहुत सी मुलभुत सुविधाए उपलब्ध नहीं होपाई है जिस कारण बिलासपुर का कोई भी बड़ा डेवलपर आपना हाउसइंग प्रोजेक्ट इन जगहों पर लंच नहीं किया कुछ डेवलपरों ने इन जगहों पर प्रयास किया है पर जो सफलता उन्हें इन जगहों को छोड़ कर मिली है उस के मुकाबले में देवरीखुर्द सिरगिट्टी  का एरिया  कुछ भी नहीं है !
आज उसलापुर मंगला बिलासपुर का सब से ज्यादा प्रोपर्टी का हॉट मार्केट है यहाँ पर जो प्रोपर्टी के रेट में बूम देखने को मिला है जिस की किसे ने भी कल्पना भी नहीं की थी और यह ऐसी जगह है जहा पर प्रोपर्टी की डिमांड भी बनी हुई है मंगला नाका से सकरी तक  प्रोपर्टी की मांग है जिस की पूर्ती बिलासपुर के एक दर्जन से भी ज्यादा बिल्डर कर रहे है जिसमे सरकारी हौसिंग मंडल  भी शामिल है ! यह प्रोपर्टी पर निवेश करने वालो के लिये एक सब से बढ़िया उदाहरण है! अब रायपुर रोड में जो जमीनों की कीमते है उस को देख कर ऐसा लगता है की आज ४०० में लिया हुआ प्लाट क्या ५ सालो के बाद  १००० फूट के ऊपर भी रेट जा सकता है ? अभी वहा पर सिर्फ हाईकोर्ट , तिफरा नगर पंचायत,नया बस स्टैंड ,कोनी-सकरी-अमसेना बाईपास ,हौसिंग बोर्ड की एक बड़ी कालोनी ट्रांसपोर्ट नगर और तिफरा ,सिरगिट्टी का पूरा औद्योगिक क्षेत्र है !
मोपका से सीपत तक क्या क्या डेवलपमेंट हुआ है NTPC चालू होने से जहा तक मुझे लगता है की कुछ नहीं पर प्रोपर्टी के दाम बड़े है ५लाख एकड़ की जमीन ८ लाख एकड़ की हो गई है और रोड से लगी हुई जमीनों का भाव बड़ा है ! मतलब की यहाँ पर निवेश करने वालो ने खेती वाली जमीनों पर एकड़ में निवेश किया है!
एग्रीकल्चर कालेज से कोनी तक जिसमे यूनिवर्सिटी के पीछे बिरकोना तक तो प्रोपर्टी के दाम बड़े है पर कुछ ज्यादा डेवलपमेंट नहीं अभी दिख रहा है सेन्ट्रल यूनिवर्सिटी को छोड़ कर .... 3से 8 सालो में ख़मतराई, बहतराई, अशोकनगर सेन्ट्रल यूनिवर्सिटी के पीछे जुड़ जायेगे कोनी से जो बाईपास निकलने वाला है उस का फायदा ख़मतराई, बहतराई में जिन्हों ने निवेश किया है उन को मिलेगा ऐसा मेरा सोचना है!

 प्रोपटी पर निवेश करने वाले पहले यह सोचे की आप जो प्रोपर्टी खरीद रहे है उस का भविष्य में आप क्या उपयोग कर सकते है ? इसमें दो मत नहीं है की आज से १०  सालो के बाद प्रोपर्टी की कीमत बढेगी पर आप ने जो प्रोपर्टी खरीदे है क्या वो भविष्य में जब भी आप बेचना चाहे बिक पायेगी ? आज बिलासपुर में ही ऐसे बहुत से उदाहरण है प्रोपर्टी की कीमत तो है पर बिक नहीं पा रहे है! इसलिये सोच समझ कर ही प्रोपर्टी पर निवेश करे! आज अगर छत्तीसगढ़ के प्रमुख नगरो को जिनमे रायगढ़ ,रायपुर दुर्ग-भिलाई से बिलासपुर के प्रोपर्टी मार्केट की तुलना करे तो बिलासपुर का प्रोपर्टी मार्केट सब से उचा है इन शहरों के मुकाबले बिलासपुर में प्रोपर्टी की कीमत कुछ ज्यादा है और मांग भी ज्यादा है! लिखना तो बहुत कुछ है पर अगले ब्लॉग में ..!

1 comment:

Anonymous said...

property market par aap ke soch thik hai lage raho ....

abhishek