Thursday, March 31, 2011

मेरी नजर से कुछ अखबारों की कतरने

 बिलासपुर में अखबार में खबर छपी थी  है टाउन एंड कंट्री प्लानिंग विभाग जल्द ही अवैध कालोनियों पर सख्त कदम उठाने की तैयारी में है , और यह तो तय है की इन कालोनियों पर कार्यवाही होगी .
..
लेकिन निवेशको का क्या होगा जिन्हों ने इन जगहों पर निवेश किया है. ऐसे बहुत से लोग है जिन्हों ने आपना मेहनत का पैसा इन जगहों पर निवेश किया है . जिन्हें यह भी नहीं पता था की वे जहा निवेश कर  रहे है वह भूमि ,मकान अवैध कालोनी के अंतर्गत आते है उन्हें तो यह भी नहीं पता है की ग्राम व नगर निवेश जैसी कोई संस्था भी होती  है 
खबर के मुताबिक बिलासपुर हजारो एकड़ में बसी  300 से अधिक अवैध  कालोनिया है .                                

साभार -हरिभूमि 

Tuesday, March 29, 2011

Bilaspur Real Estate News

प्रॉपर्टी मार्केट में तेजी लम्बे समय तक नहीं रहती एक निश्चित समय के पश्चात तेजी स्थिर हो जाती है और इस समय कम मुनाफे या नुकसान उठाकर प्रॉपर्टी सेल करनी पड़ती है या प्रॉपर्टी कुछ समय के लिए होल्ड करनी पड़ सकती है बिलासपुर के प्रॉपर्टी मार्केट का साल ख़त्म होने को है गिनती के दो से तिन दिन बचे है 
बाजार प्रोपर्टी की  खरीदार के एक दम अनुकूल है  बिलासपुर के प्रोपर्टी बाजार में इस समय क्रेता की अपेक्षा विक्रेता अधिक हैं इस का एक  कारण यह भी है की जिन्हों  ने  पिछले 5 से 6 महीनो पहले शार्ट टर्म के लिए व्यवसायिक  और आवासीय  भूखंडो और जमीनों पर निवेश किया था . उनमे से बहुतो ने अग्रीमेंट की हुई प्रॉपर्टी बेच नहीं पाई है  जिससे प्रॉपर्टी मार्केट में लिक्विड की कमी हो गई है  अब प्रॉपर्टी के शार्ट टर्म के निवेशक अब कम मुनाफे में भी निवेश की हुई प्रोपर्टी को सेल करने की जुगत में है  . विशेष रूप से रायपुर रोड और बोदरी परसदा ,मोपका सीपत रतनपुर रोड इन जगहों पर कुछ ज्यादा ही बिकवाली दिख रही है .
प्रोपर्टी पर शार्ट टर्म में निवेश आज  प्रोपर्टी के व्यापार का नया ट्रेंड बना हुआ है जिसमे जिसमे नुकसान की गुंजाइश नहीं के बराबर है बस रेट नहीं मिले तो आप का पैसा जाम हो गया . 
 प्रोपर्टी मार्केट के  जो शार्ट टर्म में निवेश करने वाले निवेशक है उन्होंने यहाँ के प्रोपर्टी मार्केट को एक नयी उंचाईया दी है इस से माध्यम वर्ग का प्रोपर्टी का निवेशक गायब हो गया , प्रॉपर्टी के रेट तो काफी बढे है इससे शहर का विकास कुछ छीन भिन्न सा हुआ है  और इसका सबसे बड़ा नुकसान माध्यम वर्ग की आवासीय जरुरतो पर पड़ रहा है . जो नौकरी पेश नहीं है छोटे और माध्यम व्यापार या मध्यम व्यावसायिक गतिविधियों में समिलित है वे सबसे ज्यादा नुकसान उठा रहे है .व्यावसायिक गतिविधियों का केंद्र शहर के बीचोबीच होने की वजह से शहर से दूर भी आवास नही ले सकते मजबूरन वे  जहा है जैसे स्थिति है वैसा ही निवेश कर रहे है . हाउसिंग बोर्ड की कालोनिया भी शहर की सीमा से लगी हुई है जहा जाना व्यापारी पसंद नहीं करते है .
प्रॉपर्टी मार्केट के इस शार्ट टर्म के खेल के चलते प्रोपर्टी की कीमते बढती जा रही है और वास्तविक निवेशक इस उठा पटक में दूर हो रह है इस के परिणाम स्वरूप बिलासपुर शहर की सीमाओं में आवासीय गतिविधिया प्रारंभ हो गई है और यहाँ पर निवेश ५ से ६ सालो को देख कर किया जा रहा है .अवैध कालोनियों का भी खूब बिक रही है . निवेशको को पता है की  इन कालोनियों में ख़रीदे गए भूखंडो का  डायवर्सन करना मुश्किल  है उसके बाद भी  प्रॉपर्टी का निवेशक इन जगहों पर प्लाट खरीद रहा है.

Monday, March 28, 2011

बिलासपुर के प्रॉपर्टी मार्केट के सवाल जवाब भाग 5

उमेश जी शासकीय कर्मचारी है और वे कवर्धा में सर्विस कर रहे है  और उन्हें 3 से 4 लाख तक का आवासीय प्लाट लेना है .जिस पर हो आने वाले 5 से 6 सालो में मकान बनवा कर रहेंगे . अशोक नगर खमतराई , लिगिहाडीह , मोपका उनकी पसंद है .
उन्हें मेरे परिचित के एक ब्रोकर ने प्लाट भी दिखाया पर उन्हें पसंद आ गया .अब उमेश जी जल्दीबाजी ने प्लाट की रजिस्ट्री करवाना चाहते है . 31 मार्च  तक .क्योकि उन्हें ३१मार्च के बाद से बढ़ी हुई दर पर रजिस्ट्री का मूल्य देना होगा .इस वजह से वे जल्दी बाजी वह में प्लाट लेने जा रहे थे . 
                      ऐसे बहुत से लोग है  जो की 31 मार्च से पहले  प्रॉपर्टी  को रजिस्टर्ड करवाने की होड़ में लगे है 
पर इस होड़ में अप को कुछ मुख्य बातो पर ध्यान दें अवश्यक है. 
मोपका और लिगियाहडीह के कुछ  से खसरा नंबर पर रजिस्ट्री पर प्रतिबंध लगा हुआ है .
यदि आप अवैध कालोनी की प्लाटिंग  पर कोई प्लाट ले रहे है तो उस की रजिस्ट्री भले ही हो जय परन्तु आने वाले भविष्य में आप के सुरक्षित निवेश की गारंटी खत्म हो जाएगी .
31 मार्च के बाद प्रोपर्टी की रजिस्ट्रेशन फ़ीस यदि बदती भी है तो 5 से 15 प्रतिशत के बिच ही बढेगी  मान लीजिये की आज आप कोई प्रोपर्टी खरीद रहे है और उसकी रजिस्ट्री का शुल्क स्टंप डयूटी 20.000 हजार रूपये की लग रही है और 31 मार्च के बाद 10 % की दर से बढती है तो   2,000 अधिक की डयूटी चुकानी पड़ेगी .
उमेश जी जल्दी बाजी में मोपका धानमंडी के आसपास प्लाट खरीद रहे थे जो की अभी विवादित भूमि में गिना जा रहा है .और उसके आसपास जाँच भी चल रही है और वह भी अवैध कालोनी का प्लाट था 
जब उमेश जी ने मुझ से परमर्श लिया तो मैंने उन्हें साफ़ मना कर दिया और जो बाते मैंने ऊपर लिखी है उसे मैंने विस्तार से समझाई तब जाकर उमेश जी ने वह प्लाट नहीं लिए और मेरे ऊपर एक जिमेदारी सोपी है की उनके लिए आवासीय प्लाट देखा जाय 
इस लेख के माध्यम से मैं यह कहना चाहता हूँ की प्रॉपर्टी की खरीदी में कुछ सावधानिया बरते और थोड़े से पैसे बचाने के लिए प्रॉपर्टी पर निवेश का फैसले जल्दी बाजी में ना लें . 

Saturday, March 19, 2011

होली का आनंद रंगों से होता है हरे ,गुलाबी, लाल, नीले,पीले कच्चे पक्के   जब हम एक दूसरे पर रंग लगाते हैं तो लगता है जैसे हम भी इस प्रकृति के रंग में रंगाये हुए है और सारी  धरती ये अम्बर  सभी एक साथ मिलकर इस रंगों के त्यौहार में हमारे साथ रंगों का आनंद ले रहा है  
हमारे जीवन में प्रकृति के इन विभिन्न रंगों की बहुत अहमियत है हमारी हर खुशी, हर भावना को व्यक्त करने वाले और जीवन को महकाने वाले ये रंग ही तो है तो इन जीवन के रंगों के साथ हम सब प्रेम से होली मनाये 


बड़ो का आशीर्वाद मुझ पर सदा बना रहे मित्रो का साथ और स्नेह मुझे मिलता रहे 
                                                        बुद्धिजीवियों को  ब्लॉग जगत के धुरंधरो को ब्लोगरो को लेखको को पत्रकारों को मेरे ब्लॉग के पाठको को मित्रो को होली की शुभ कामनाये 


       खूब चले पिचकारी चले रंग की धार जीवन में लाये नित नए रंगों की बौछार 

  फिर इस बार शांति और सदभावना के साथ मने यह होली का त्यौहार 

>>>>>>>>>>>>>><<<<<<<<<<<<<<<<<

मनीष जायसवाल 
बिलासपुर 
छत्तीसगढ़ 

Friday, March 18, 2011

मेरी नजर से कुछ अखबारों की कतरने

मेरी नजर से कुछ अखबारों की कतरने 

यह कैसा हेर फेर इस में लोगो की मेहनत की कमाई लुट रही है 
मैं हर बार लोगो से कहता हूँ की जमीन का या प्रोपर्टी का टाइटल जाँच कर ही   खरीदे फिर चाहे वह लिंगियाडीह हो मोपका या फिर अशोक नगर .या फिर क्यों न पैसे वालो की कालोनी विद्या नगर हो 








सभार भास्कर व नई दुनिया

Tuesday, March 8, 2011

बिलासपुर प्रॉपर्टी मार्केट के सवाल जवाब भाग 4


                                    बिलासपुर प्रॉपर्टी  मार्केट के  सवाल जवाब भाग 4
राजेश नायर जी मेरे बहुत पुराने मित्र है वे  LIC एजेंट है और उन्हों ने अपना पैसा पालिसियो और बांड्स पर भी निवेश किया है . राजेश नायर जी का मकान भी फाइनेंस है और अब वो प्रॉपर्टी लेना चाहते है .उनका बजट करीब 8 से 10 लाख का है
वो निर्णय नहीं कर पा रहे है की उन्हें कहा पर जमीन खरीदनी चाहिए .
  
राजेश जी  आप के इस बजट में आप को बहुत ही कम  विकल्प मिल सकते है . यदि आप जमीन को अपने निजी इस्तेमाल के लिए खरीदना चाहते हैं तो आपको रिहाइशी इलाके में जमीन खरीदनी चाहिए.  निवेश के लिए आपको कमर्शियल क्षेत्र में खरीदारी करनी चाहिए क्योंकि इससे किराये की आमदनी हो सकती है .

और आने वाले 8 से 10 सालो की सोच कर यदि आप निवेश का मन बना रहे है तो जहा पर अभी योजनाओ की घोषणा हुई है वह पर कोई  भी जमीन खरीद ले जैसे की अरपा नदी के विकास की योजना बनी है . आप को अरपा से लगी हुई 400से 500 मीटर दूर पर कोई भी जमीन खरीद सकते है आने वाले समय में नदी से लगी हुई जमीनों की कीमत 10 से 2000 गुना तक भी बाद सकती है गुजरात में अहमदाबाद में सबरमति नदी पर रिवर फ्रंट  प्रोजेक्ट से लगी हुई जमीनों के दाम सबसे बड़ा  उधाहरण  है .
आप इतने कम बजट में बाईपास से लगी हुई किसी भी ग्रामीण सड़क से 500 से 800 मीटर दूर कही भी जमीन खरीद सकते है . इन्हें  खोजना थोडा मुश्किल होगा इस  के लिए आप प्रॉपर्टी के ब्रोकर की मदत ले सकते है 8 से 10 सालो के बाद इसमें बहुत बढ़िया रिटर्न आने की जबरदस्त सम्भावना है
उधाहरण के लिए आज बहतराई और खमतराई जाने वाली सडक के किनारे की जमीने या फिर मंगला और रायपुर नाका के बिच बना रिंग रोड 2 में  घुरू और अमेरी रोड पर जमीनों की कीमतों को देख ले
    

Sunday, March 6, 2011

बिलासपुर के प्रॉपर्टी मार्केट के सवाल जवाब भाग 3

बिलासपुर के प्रॉपर्टी मार्केट के सवाल जवाब भाग 3

 प्रॉपर्टी मार्केट के सवाल जवाब मेरे इस अध्याय को प्रारम्भ करने से मुझे आज फोन पर श्री झा जी ने घर पर बुलवाया और प्रॉपर्टी मार्केट से जुडी बहुत सी बाते हुई आज पहली बार मुझे किसी ने 1000  रूपये की बिना बोले फ़ीस दी है . यह मेरे प्रॉपर्टी के सलाहकार होने की पहली फ़ीस है .
एक सफल व्यवसायी श्री झा जी से बहुत सी बाते हुई है मैं उनके सबसे महत्वपूर्ण सवालों को आप लोगो के सामने प्रस्तुत है 
श्री झा जी ने अपनी एक प्रॉपर्टी बेचने वाले है और उस प्रॉपर्टी से होने वाली आय में से वो  करीब 70 से 80 लाख रूपये का निवेश प्रॉपर्टी पर  करना चाहते है .
 मैंने झा जी से कहा - झा जी सीधा सा एक फंडा है हमेशा जहा पर बहुत तेजी चलती रहती है वह पर प्रॉपर्टी बेचना फायदे का सौदा रहता है और जहा पर मार्केट धीमा रहता है वहा पर खरीदी करनी चाहिए  .
झा जी 4 से 5 साल के लांग टर्म  में 70 से 80 लाख रुपया  निवेश करने वाले है .
आज मोपका ,बहतराई , खमतराई , बिजोर , तिफरा , बोदरी ,बिलासपुर शहर के बाई पास , रायपुर रोड,  सकरी, उसलपुर, इन सब जगहों पर आवासीय और व्यवसायिक  प्रॉपर्टी काफी महंगी हो गई है . और बिलासपुर शहर की सीमाए इन जगहों से लगी हुई है .ऐसे इन जगहों में से मोपका , उसलापुर , सकरी में  व्यवसायिक प्रॉपर्टी पर निवेश किया जा सकता है आने वाले 4 से 5 सालो में इन जगहों पर व्यवसायिक और कमर्शियल स्पेस की मांग बढेगी .नए बाई पास बेहतर विकल्प हो सकते है पर यहाँ पर अभी २५ से ४० लाख रूपये एकर से कम की नहीं मिलेगी और 5 सालो में कीमत दुगनी होने की उमीद ज्यादा है .
यदि आप आवासीय  प्रॉपर्टी पर निवेश करने की सोचते है तो मेरा नजरिया यह कहता है की आप अभी उसलपुर से लगे हुए हापा में जमींन खरीद सकते है वह पर आप के बजट के हिसाब से यहाँ पर लोकेशन के हिसाब से 5 से 8 एकर  खेत जा जमीन मिल सकती है . उसलापुर  करीब करीब कालोनियों से पट्टा जा रहा है और अब उसलपुर और हापा से लगी हुई सीमा में प्रोपर्टी  की मांग बढेगी 
यहाँ से कनेक्टीविटी  भी बहुत अच्छी है , सकरी से कोनी  बाईपास नजदीक ही है सकरी से बिलासपुर रोड पास में ही है उसलापुर रेल्वे स्टेशन भी नजदीक ही है और रेल्वे का जो उसलापुर से रेल्वे स्टेशन से बिलासपुर  रेल्वे स्टेशन तक का  फ्लाई ओवर का प्लान जो कागजो में है वो भी नजदीक ही है , उसलापुर और हापा के बिच आन्तरिक सड़के भी है  इसलिए वर्तमान में भी  कनेक्टिविट भी बहुत अच्छी है  कनेक्टीविटी  ऐसा फेक्टर है जिस पर प्रॉपर्टी की ग्रोथ निर्भर करती है और आने वाले समय में यहाँ पर कनेक्टीविटी   और बेहतर होने की सम्भावनाये ज्यादा है .और यहाँ पर आने वाले 5 सालो में यदि कालोनिया बनती है तो  निवेश 500  प्रतिशत रिटर्न मिलने की सम्भावनाये ज्यादा है . 
आप उसलापुर या व्यापर विहार में कमर्शियल स्पेस भी ले सकते है यहाँ से आप को सालाना रिटर्न की उमीद भी है और 5 सालो बाद कमर्शियल स्पेस की कीमत भी 40 से 100 प्रतिशत बढ सकती है . 
आप अरपा नदी से 400 मीटर दूर  सेंदरी से तुरकाडीह , कोनी , घुटकू इन जगहों पर भी बेहतर निवेश हो सकता  है अरपा विकास चलू होते ही इन जगहों की प्रॉपर्टी बूम करेगी क्योकि अब कृत्रिम प्रॉपर्टी की बूम के लिए कुछ ज्यादा जगह नहीं बची है .
और भी बहुत कुछ बाते हुई जैसे की  अभी प्रॉपर्टी का बूम पैदा हो सकता है .और भी बहुत सी चरचाये हुई.
                      इस धधे में  गोपनीयता की अनिवार्यता होनी चहिये इस वजह से  मैं अन्य बातो की सार्वजनिक चर्चा नहीं करना नहीं चाहता 



Wednesday, March 2, 2011

बिलासपुर के प्रॉपर्टी मार्केट के सवाल-जवाब भाग - 2

             बिलासपुर के प्रॉपर्टी मार्केट के सवाल-जवाब


                        बिलासपुर प्रोपर्टी मार्केट 


ब्लॉग लिखते हुए मुझे जितेन्द्र षडंगी जी ने सवाल पुच्छा है की उन्हें २ से ३ लाख तक का बिलासपुर में  आवासीय प्रॉपर्टी पर करना है  जितेन्द्र षडंगी जी तृतीय वर्ग के शासकीय कर्मचारी है . और पूछते है की क्या उनका मकान फयनास हो सकता है 

 जितेन्द्र षडंगी जी आप को इतने कम बजट में केवल होउसिंग बोर्ड की कालोनी में ही मकान मिल सकता है उस में भी आय की एक सीमा रहती है . आप कोशिश करे की मंगला में जो होउसिंग बोर्ड की कालोनी है उस पर आपना ध्यान केन्द्रित करे २ लाख केश अगर आप देते है तो  बाकि आप का मकान फयनास भी हो सकता है क्योकि आप सरकारी कर्मचारी है और इस से कम में भी फयनास हो सकता है . 
रही बात होउसिंग बोर्ड की कालोनी की तो वह पर आप को चौड़ी  सडक,  नाली ,पानी ,बिजली ,सीवर लाइन, जैसी सुविधाए इतने कम बजट में कही नहीं मिलेगी .
जितेन्द्र षडंगी जी मंगला में आने वाले समय में आप को आज किया हुआ निवेश बहुत अच्छा रिटर्न देगा तो बेहतर होगा की आप मंगला के होउसिंग बोर्ड के बारे में सोचे 

Tuesday, March 1, 2011

बिलासपुर के प्रॉपर्टी मार्केट के सवाल-जवाब भाग - 1

मुझे बिलासपुर के प्रॉपर्टी मार्केट में निवेश करने के लिए जो सवाल पूछे  है उन सवाल और उन के जवाब प्रस्तुत है 
                                    
                             बिलासपुर के प्रॉपर्टी मार्केट के सवाल जवाब 


श्री राम दिवेदी जी का सवाल है की उन्हें 7 से 8 लाख रूपये का निवेश आवासीय प्लाट पर करना है करीब 1500 से 2000 वर्ग फुट के आसपास . वो आने वाले 6 से 8 सालो के बाद आपना मकान बनवायेगे  वे पूछते है की उन्हें राजकिशोर नगर या उसलापुर में से कहा निवेश करना चाहिए 


राम साहब आप को 7 से 8 लाख रुपये में उसलापुर और राजकिशोर नगर दोनों जगह प्लाट मिल जायेगे 
राजकिशोर . सबसे पहले मैं यह कहना चाहूँगा की आप अगर आवासीय प्लाट लेने वाले है तो भूल कर भी अवैध कालोनियों का प्लाट न ले ग्राम व नगर निवेश से अनुमोदित प्लाट ही ले .
मेरे हिसाब से आप को उसलापुर के आसपास या मंगला में होउसींग बोर्ड की कालोनी ठीक रहेगी  पर आप आवासीय प्लाट लेने वाले है  आप अभी मंगला में आवासीय प्लाट पर निवेश कर सकते है अरपा प्रोजेक्ट यदि चालू  हुआ तो आप को बेहतर कनेक्टिविट और नए डेवलपमेंट से पास ही पड़ेगा . और सकरी के पहले भी निवेश करना ठीक रहेगा आने . यदि आप थोडा और बजट बड़ा कर ले तो जैन इंटर नेशनल  स्कूल के आस पास कोई भी बड़ी टाउन शिप में प्लाट पर निवेश करे , अभी यह एरिया डेवलप हो रहा है और आने वाले 7 से 8 सालो में इस एरिया में बहुत डेवलपमेंट हो चूका होगा 
राजकिशोर नगर भी बहुत बढ़िया विकल्प है परन्तु वर्तमान में प्लाट खोजना टेडी  खीर होगा तो कोशिश करे की उसलपुर को प्राथमिकता दे .

मैं आपने ब्लॉग में बिलासपुर के प्रोपर्टी मार्केट से जुड़ा मेरे लिए एक नया विषय प्रस्तुत  करने जा रहा हु . हलाकि ये विषय सामान्य ही है पर मेरे लिये लेखन में एक दम नया है 

मुझे बहुत से लोग अक्सर पूछते है की यहाँ या वहा कहा पर प्रोपर्टी पर निवेश किया जाय और मैं उन्हें सलाह देता हूँ की वे कहा पर निवेश करे .

ऐसे ही बहुत से प्रोपर्टी सेक्टर से जुड़े हुए सवाल  है जिनका मैं प्रोपर्टी के निवेशको ,आपने मित्रो , परिचितों ,  रिश्तेदारों और अन्य लोगो को  को जवाब देता हूँ  उन्ही के सवालों और जवाबो को मैं आपने इस ब्लॉग में समिलित करने का प्रयास कर रहा हूँ .
और मैं अकसर जवाब के बाद यह जरुर कहता हूँ की यह मेरी राय है . आप निवेश करने से पहले और अच्छी तरह से विचार कर लेवे .