Tuesday, March 29, 2011

Bilaspur Real Estate News

प्रॉपर्टी मार्केट में तेजी लम्बे समय तक नहीं रहती एक निश्चित समय के पश्चात तेजी स्थिर हो जाती है और इस समय कम मुनाफे या नुकसान उठाकर प्रॉपर्टी सेल करनी पड़ती है या प्रॉपर्टी कुछ समय के लिए होल्ड करनी पड़ सकती है बिलासपुर के प्रॉपर्टी मार्केट का साल ख़त्म होने को है गिनती के दो से तिन दिन बचे है 
बाजार प्रोपर्टी की  खरीदार के एक दम अनुकूल है  बिलासपुर के प्रोपर्टी बाजार में इस समय क्रेता की अपेक्षा विक्रेता अधिक हैं इस का एक  कारण यह भी है की जिन्हों  ने  पिछले 5 से 6 महीनो पहले शार्ट टर्म के लिए व्यवसायिक  और आवासीय  भूखंडो और जमीनों पर निवेश किया था . उनमे से बहुतो ने अग्रीमेंट की हुई प्रॉपर्टी बेच नहीं पाई है  जिससे प्रॉपर्टी मार्केट में लिक्विड की कमी हो गई है  अब प्रॉपर्टी के शार्ट टर्म के निवेशक अब कम मुनाफे में भी निवेश की हुई प्रोपर्टी को सेल करने की जुगत में है  . विशेष रूप से रायपुर रोड और बोदरी परसदा ,मोपका सीपत रतनपुर रोड इन जगहों पर कुछ ज्यादा ही बिकवाली दिख रही है .
प्रोपर्टी पर शार्ट टर्म में निवेश आज  प्रोपर्टी के व्यापार का नया ट्रेंड बना हुआ है जिसमे जिसमे नुकसान की गुंजाइश नहीं के बराबर है बस रेट नहीं मिले तो आप का पैसा जाम हो गया . 
 प्रोपर्टी मार्केट के  जो शार्ट टर्म में निवेश करने वाले निवेशक है उन्होंने यहाँ के प्रोपर्टी मार्केट को एक नयी उंचाईया दी है इस से माध्यम वर्ग का प्रोपर्टी का निवेशक गायब हो गया , प्रॉपर्टी के रेट तो काफी बढे है इससे शहर का विकास कुछ छीन भिन्न सा हुआ है  और इसका सबसे बड़ा नुकसान माध्यम वर्ग की आवासीय जरुरतो पर पड़ रहा है . जो नौकरी पेश नहीं है छोटे और माध्यम व्यापार या मध्यम व्यावसायिक गतिविधियों में समिलित है वे सबसे ज्यादा नुकसान उठा रहे है .व्यावसायिक गतिविधियों का केंद्र शहर के बीचोबीच होने की वजह से शहर से दूर भी आवास नही ले सकते मजबूरन वे  जहा है जैसे स्थिति है वैसा ही निवेश कर रहे है . हाउसिंग बोर्ड की कालोनिया भी शहर की सीमा से लगी हुई है जहा जाना व्यापारी पसंद नहीं करते है .
प्रॉपर्टी मार्केट के इस शार्ट टर्म के खेल के चलते प्रोपर्टी की कीमते बढती जा रही है और वास्तविक निवेशक इस उठा पटक में दूर हो रह है इस के परिणाम स्वरूप बिलासपुर शहर की सीमाओं में आवासीय गतिविधिया प्रारंभ हो गई है और यहाँ पर निवेश ५ से ६ सालो को देख कर किया जा रहा है .अवैध कालोनियों का भी खूब बिक रही है . निवेशको को पता है की  इन कालोनियों में ख़रीदे गए भूखंडो का  डायवर्सन करना मुश्किल  है उसके बाद भी  प्रॉपर्टी का निवेशक इन जगहों पर प्लाट खरीद रहा है.

No comments: