Monday, April 23, 2012

रेंटल इन्कम का निवेश माडल

प्रॉपर्टी में निवेश करना निवेश करने का सबसे आसान तरीका होता है पर हर प्रकार की प्रॉपर्टी में निवेश करने से पहले यह भी देख ले की जो प्रॉपर्टी खरीद रहे है उस का निवेश माडल होना चाहिए  

आप जो प्रॉपर्टी खरीदने जा रहे है उस से आप को क्या मासिक आय मिलने की सम्भावना है यदि मासिक आय रेंटल के रूप में मिलती है  तो ऐसी प्रोपर्टी  लेने में फायद आप की ही है पर सवाल यह है की आप ऐसी कौन सी प्रोपर्टी ले जिस से आप को रेंटल इनकम मिलता रहे इस के लिये जरुरी है निवेश की प्लानिंग करना.
यदि आप रेंटल प्रॉपर्टी खरीदने जा रहे है तो पहले आप रेंटल इन्कम का निवेश माडल बनाये इस से आप को निवेश करने के लिए सही दिशा मिल जाएगी सीधे शब्दों में कहूँ हो  ऐसी प्रोपर्टी में निवेश करने से पहले रेंटल इन्कम का निवेश माडल बनाये मैं कुछ निवेश माडलों की चर्चा कर रहा हूँ

1 . यदि आप भविष्य के लिए अपना मकान लेना चाहते है और आप निवेश भी करना चाहते है तो आप को अपनी मनपसंद लोकेशन में मकान ले लेना चाहिए यदि बजट थोडा कम है तो आप अपनी पसंद के लोकेशन से कुछ दुरी पर मकान या फ्लेट ले सकते है या फिर  प्लाट लेकर मकान बनवा सकते है इस से फायदा यह है की लोकेशन कुछ दूर रहती है तो कुछ सालो के बाद जब आप रहने के लिए आयेंगे तो वह स्थान काफी डेवलप हो चूका होगा . और भविष्य आप को लोकेशन के लिए भटकना नही पड़ेगा आप के निवेश की कीमत भी बढ चुकी होगी  और आप को  इस प्रॉपर्टी से रेंटल इनकम भी मिलती रहेगी जिस से लोन पटाने में आपको भार कम पड़ेगा 

2.आप के पास यदि खुद का मकान है और आप नियमित मासिक आय के लिए प्रॉपर्टी में निवेश करना चाहते है तो आप को कमर्शियल मार्केट में दुकानों पर निवेश करना चाहिए ध्यान रखे की इन दुकानों में निवेश करना है तो ग्राउंड फ्लोर को ज्यादा महत्व दे और उन स्थानों को ज्यादा महत्व दे जहा पर व्यापारिक गतिविधिया ज्यादा होती है या इन केन्द्रों से नजदीक है उन स्थानों को महत्व दे .

३.प्रॉपर्टी  में रेंटल इन्कम के लिए आप आफिस स्पेस पर भी निवेश कर सकते है इसमें स्थल चयन सबसे महत्व पूर्ण है या कहूँ की आफिस स्पेस में रेंटल के किये लोकेशन सबसे महत्व पूर्ण है . कार्पोरेट सेक्टर लोकेशन को लेकर काफी ध्यान देते है लोकेशन के आलावा  पार्किंग, ट्राफिक , ट्रांसपोर्टेशन और आसपास की व्यापारिक गतिविधियों को ध्यान में रख कर कार्पोरेट सेक्टर अपना आफिस या ब्रांच खोलते है . इन प्रकार की   प्रॉपर्टी में आपको रेंटल इन्कम का किराया ज्यादा मिलने की संभावना रहती है और कार्पोरेट का एग्रीमेंट 5  या 9  सालो तक का रहता है और हर 3  सालो में 10 % तक की बढोतरी होते रहती है  पर इसमें आप को कोई जरुरी नहीं है की आप ने  प्रॉपर्टी  खरीदी और आप को किरायेदार मिल गए या कहा जाये की ऐसी प्रॉपर्टी  में किरायेदार देरी से मिलते है पर रेंटल इन्काम के लिए यह माडल शानदार है बस आप को लोकेशन  की समझ होनी चाहिए की कहा निवेश किया जाय 

4 .एग्रीकल्चर लैंड रेंटल इन्कम के लिए एग्रीकल्चर लैंड भी बहुत बढ़िया विकल्प है बस आप को अपनी जमीन को थोडा डेवलप करना है . एग्रीकल्चर लैंड  से सालान आय या मासिक आय हो सकती है शायद यह कुछ लोगो को कल्पना लगे पर ऐसा हो सकता है बस आप की एग्रीकल्चर लैंड से कनेक्टिविटी जुडी होना जरुरी है आप को बिजली ,पानी और रहने की व्यवस्था फेंसिंग जैसी सहूलियत देनी होगी और साथ में डेयरी  या पोल्ट्री के शेड बना दिए जाय तो यह सबसे बढ़िया है और ये प्रॉपर्टी  हर से नजदीक हो तो ऐसी एग्रीकल्चर लैंड आप को रेंटल आय दे सकती है महगी होती खेती की जमीने आप को भविष्य में शानदार रिटर्न देगी क्योकि खेती की जमीने अब महँगी होते जा रही है 
कुल मिला कर कहा जाय की निवेश का माडल होना चाहिए और प्रॉपर्टी  में निवेश करने की जानकारी होना चाहिए ऐसा हो सकता है की मैंने जो अपने विचार लिखे हो वो गलत भी हो सकते है पर प्रॉपर्टी  मार्केट पर यह मेरा नजरिया है  

Friday, April 13, 2012

प्रॉपर्टी का निवेश माडल

 प्रॉपर्टी की कीमते दिन प्रति दिन बदती जा रही है पर आम निवेशक के लिए  प्रोपर्टी कहा और कैसी खरीदे इस का निर्धारण करना टेड़ी खीर है . आम निवेशक जहा प्रोपर्टी की डिमांड होती है वही निवेश करना पसंद करते है और यह कुछ हद तक एक सुरक्षित तरीका भी है पर यह आप की प्रोपर्टी को जाम भी करा सकता है . 
 प्रॉपर्टी  के निवेश के लिए निवेश माडल जरुरी है मैं इस ब्लॉग के माध्यम से कुछ ५ माडलों का जिक्र कर रहा हूँ 

1. आप जो प्रॉपर्टी का निवेश माडल  खरीदने जा रहे है उस का भविष्य में क्या उपयोग होगा या आप उस प्रॉपर्टी का क्या करेंगे .जैसे की आप प्रॉपर्टी अपने घर बनवाने के लिए लेना चाहते है या लम्बे समय के निवेश के लिए या रेंटल इनकम के लिए एक ऐसा उदेश्य होना चाहिए .

2. आप जो प्रॉपर्टी खरीदने जा रहे है उस के भविष्य में खरीदार कौन होंगे या आप जो प्रॉपर्टी खरीदने जा रहे है वो बिक जाएगी की नहीं इस बात का अंदाज होना चाहिए. हर शहर में ऐसे ले आउट मिल जायेंगे जो पिछले 10  सालो से डेवलपमेंट की राह देख रहे है और उन की रि सेल नहीं के बराबर है


3 .प्रॉपर्टी में निवेश के लिए समय सीमा का निर्धारण करे .प्रॉपर्टी में अगर निवेश करना है तो सोचने और  प्रॉपर्टी  खोजने में ज्यादा समय नहीं गवाना चाहिए ऐसा करते रहने से आप जो प्रॉपर्टी खरीदने की सोच रहे वो महंगी होते चली जाएगी.

4 . यदि मकान लेना है तो लोकेशन और निर्माण कार्य को आधार बनाना चाहिए. क्योकि लोकेशन ही प्रॉपर्टी के भविष्य का निर्धारण करता है और उस मकान के स्ट्रक्चर की गुणवत्ता, फिनिशिंग, बिजली  और पल्मबिंग और   पानी की सप्लाई ड्रेनेज सिस्टम का कार्य देख कर ही कोई निर्णय करे इस माडल के लिए विस्तार से अगले पोस्ट का इंतजार करे


5.भेड़ चाल से बचे ज्यादा तर प्रॉपर्टी  के निवेशक यही करते है भीड़ में चले पर सोच समझकर भेड़ चाल में खरीदी हुई  प्रॉपर्टी की रि सेल और डेवलपमेंट अकसर देर से होता है और इन जगहों पर प्रॉपर्टी के क़ानूनी लफड़े होने की सम्भावनाये होती है


इन शब्दों में लिखने का मतलब यही है की आप जो भी  प्रॉपर्टी पर निवेश करने जा रहे है सोच समझ कर करे क्योकि इस सेक्टर में हवाए किसी एक स्थान पर नहीं बहती है  पर के दो विशेष स्थानों पर इस का असर बहुत होता है बस आप को निवेश की दिशा का समझना बस है